पुरातन समय मै काले घने लम्बे बाल को राज


काले घने लम्बे बाल यदि किसी स्त्री के हो तो उसके सौदार्य की बात ही कुछ और है।

पुरातन काल की बात की जाय उस वक्त शैंपू, कंडीशनर कही दिखाई नहीं देते। फिर भी उनके बाल कभी भी सफेद रंग के हो यह संभव नहीं था। कितनी भी उम्र हो पर बालों मैं कभी कलर लगाया हो यह बोहत ही कम लोग हो सकते है।

वह अपनी दिनचर्या मैं हर रोज बालों मैं तेल लगाना जानते थे जब की आज के समय मै किसी को भी चिकना पन पसंद नही। साथ ही बालों को शैंपू की जगह यदि छास (Butter Milk) का उपयोग बालों को साफ करने किया जाय तो सबसे ज्यादा उत्कृष्ट हो सकता है, जिससे विटामिन बी12 की कमी को दूर कर कर जड़ो को मजबूत बनाता है।

तेल (oil) का इस्तमाल करना

शुद्ध कोपरेका तेल (Pure COCONUT Oil) 500 ml मैं मैथी के दाने 100gm, शिकाकाई 50gm आंवला 50 gm का मिश्रण करना है। सबसे पहले कोपरेका तेल गरम करना है स्टील/तांबे के बर्तन मैं उसमे मेथी के दाने, शिकाकाई, आवला ऐसे एक एक करके मिश्रण बनाना है । जब तेल ठंडा हो जाए उसे कांच की बोतल मैं भरकर 7 दिनों तक रखना है। उसके बाद इस्तमाल कर सकते है। जिसे रात को सोने से पहले अच्छी तरह सिर की मालिश कर के लगाए। दो या तीन दिन के बाद सिर को धोने से बाल झड़ना बंद हो जायेगे साथ ही मैं बालों घने लम्बे मोटे बाल बढ़ते हुए दिखाई देंगे। इसमें कोकोनट ऑयल की जगह बादाम तेल का भी इस्तमाल कर सकते हो।

दो दिनों के बाद बालो को छास या फिर लिम्बु के पानी से अच्छे तरीके से मसल कर धोने से जड़ो मैं रह गया Dandruff पूरे तरीके से निकल सकता है। इसी के साथ ही बालो की सुंदरता, घने लम्बे बाल आपको दिखाई देंगे इसका रिजल्ट सिर्फ 15 दिनों मैं ही दिखाई देगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published.