47 की उम्र में बच्चों की तरह फूट-फूटकर रोए रिकी पोंटिंग, वजह जानकर दिल हो जाएगा घायल


<script async src=”https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-5905563197981443″

     crossorigin=”anonymous”></script>

रिकी पोंटिंग मानसिक रूप से बहुत मजबूत इंसान हैं और पूरे करियर के दौरान वो कभी भी इस कदर इमोशनल नहीं दिखाई दिए. रिकी पोंटिंग जैसा मजबूत इंसान, जो ऑस्ट्रेलिया को 1999, 2003 और 2007 का वर्ल्ड कप जिता चुके हैं, उनके इस तरह बच्चों की तरह रोने से हर कोई हैरान है. 

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया को 3 बार वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान रिकी पोंटिंग 47 की उम्र में बच्चों की तरह फूट-फूटकर रोने लगे, जिसने दुनिया भर के लोगों को भी रुला दिया है. रिकी पोंटिंग के रोने की वजह जानकर किसी का भी दिल चकनाचूर हो जाएगा. रिकी पोंटिंग मानसिक रूप से बहुत मजबूत इंसान हैं और पूरे करियर के दौरान वो कभी भी इस कदर इमोशनल नहीं दिखाई दिए. रिकी पोंटिंग जैसा मजबूत इंसान, जो ऑस्ट्रेलिया को 1999, 2003 और 2007 का वर्ल्ड कप जिता चुके हैं, उनके इस तरह बच्चों की तरह रोने से हर कोई हैरान है. 

बच्चों की तरह फूट-फूटकर रोए रिकी पोंटिंग

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग हाल ही में दिग्गज लेग स्पिनर शेन वॉर्न की अचानक हुई मौत से सदमे में है. पिछले हफ्ते ही शेन वॉर्न का हार्ट अटैक के कारण निधन हो गया था. रिकी पोंटिंग को शेन वॉर्न से इतना प्यार है कि उनकी आवाज सुनने के बाद वह टीवी बंद कर देते हैं, क्योंकि वह अभी भी यह नहीं मानते कि उनके साथी खिलाड़ी अब नहीं रहे. शेन वॉर्न को इमोशनल विदाई देते हुए रिकी पोंटिंग ने कहा कि वह अभी भी अपने करीबी दोस्त की अप्रत्याशित मौत के दुख से उबर नहीं पा रहे हैं.

वजह जानकर दिल हो जाएगा चकनाचूर

रिकी पोंटिंग एक इंटरव्यू के दौरान अचानक बच्चों की तरह फूट-फूटकर रोने लगे. रिकी पोंटिंग ने आईसीसी रिव्यू पर इशा गुहा से कहा, ‘जब भी उसके बारे में बोलना होता है या अपने साथ सफर के अनुभव बताने होते हैं तो मेरे पास शब्द नहीं रहते. आज भी जब मैं टीवी पर श्रृद्धांजलि देखता हूं और उनकी आवाज सुनता हूं तो टीवी बंद कर देता हूं. पिछले कुछ दिन कठिन रहे हैं लेकिन इससे जागरूकता मिली है कि किन बातों पर और ध्यान देने की जरूरत है. हम सभी के लिए यह सीख है.’

नहीं रुके रिकी पोंटिंग के आंसू

रिकी पोंटिंग और शेन वॉर्न मेलबर्न में एक ही इलाके में रहते थे और कभी कभार साथ में गोल्फ खेलते थे. पोंटिंग ने कहा कि एक बात वह शेन वॉर्न को कभी नहीं बता सके. उन्होंने आंसू पोंछते हुए कहा, ‘मैं उससे यह नहीं कह सका कि उससे कितना प्यार करता हूं. काश कहा होता.’ शेन वॉर्न को भावुक श्रृद्धांजलि देते हुए रिकी पोंटिंग ने 

कहा कि वह अभी भी अपने करीबी दोस्त की अप्रत्याशित मौत के दुख से उबर नहीं पा रहे हैं. रिकी पोंटिंग ने कहा,‘जब भी उसके बारे में बोलना होता है या अपने साझे सफर के अनुभव बताने होते हैं तो मेरे पास शब्द नहीं रहते.’ रिकी पोंटिंग ने कहा,‘आज भी जब मैं टीवी पर श्रृद्धांजलि देखता हूं और उनकी आवाज सुनता हूं तो टीवी बंद कर देता हूं.’


Leave a Reply

Your email address will not be published.